bulli bai app kya hai | What is bulli bai app

आज की इस पोस्ट में हैम आपको विस्तार से बताते हैं कि bulli bai app kya hai या बुल्ली बाई ऐप क्या है और इस बुल्ली बाई के नाम पर क्यो विवाद हर तरफ उठा हुआ है।

पिछले साल जुलाई में एक विवाद हुआ था जिसे “सुल्ली डील” नाम मिला था यह बुल्ली बाई विवाद भी ठीक उसी प्रकार का है, पिछले साल वाले विवाद में लगभग 80 मुस्लिम महिलायें ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर बेचने के लिए रखी गयी थी।

bulli bai app kya hai | बुल्ली बाई एप क्या है
bulli bai app kya hai | बुल्ली बाई एप क्या है

सांकेतिक फोटो

बुल्ली बाई एप हिंदी में जानकारी

मुस्लिम महिलाओं का अपमान करके उनको भयभीत करने के इरादे से बनाए गयी जो ‘बुल्ली बाई एप’ थी इस ऐप को बनाने वाले मुख्य आरोपी को दिल्ली पुलिस, स्पेशल सेल की IFSO (Intelligence fussion and strategic ops) की यूनिट ने असम में जाकर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का ये कहना है कि नीरज बिश्नोई ही इस चर्चित बुल्ली बाई एप या bulli bai app का mastermind है।

इसी ने ही Github पर बुल्ली बाई एप को create किया था। इसके बाद नीरज ने इस ऐप्प को viral करने के लिए twitter पर ‘@bullibai_’ नाम से ट्विटर पर खाता बनाया था। इसके पश्चात इसे अलग अलग सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर बहुत ही ज्यादा संख्या में शेयर कर दिया गया। नीरज के पास से बरामद किए गए मोबाइल और लैपटॉप से इस बात की पुष्टि की गई है।

यह भी जानें ऑनलाइन गेम से बच्चों की सुरक्षा कैसे करें

क्या है ‘बुल्ली बाई’ ऐप विवाद?

  • बुल्ली बाई(Bulli Bai App) लोगों को भ्रमित करने और पैसे कमाने के लिए देश भर में फैले एक साइबर अपराधी समूह द्वारा विकसित एक एप है जिनमें से बहुत से आरोपी अभी भी पकड़े नहीं गए हैं।
  • बुल्ली एप को बनाने का मुख्य उद्देश्य भारतीय व भारतीय मुस्लिम महिलाओं की ऑनलाइन नीलामी करना बेचने के लिए रखना और बदले में लोगों से पैसे कमाना है।
  • ‘बुल्ली बाई’ एप को microsoft के द्वारा सम्बंधित open source software development की साइट GitHub पर create किया गया था।
  • बुल्ली बाई की तरह के मामलों में साइबर क्रिमिनल सोशल साइटों जैसे फ़ेसबूक इंस्टाग्राम ट्विटर जैसी sites से महिलाओं या लड़कियो की photos लेते हैं और इसका उपयोग बहुत ही गलत तरीके से आपराधिक गतिविधियों में करते हैं जिससे उन्हें पैसे मिलते हैं।
  • इस तरह के ऑनलाइन scam उन महिलाओं और लड़कियों के साथ होते हैं जिनकी प्रोफाइल पूरी तरह से पब्लिक रहती है इसलिए महिलाओं और लड़कियों को चाहिए कि अपनी प्रोफाइल हमेशा लॉक करके रखें या प्राइवेट रखें।
  • इस ऐप पर न केवल महिलाओं की फोटोज थी बल्कि ओर व्यक्तिगत जानकारी भी पोस्ट की गई थी। जिससे महिलाएं अनजान थी।
  • Twitter पर बुल्ली बाई एप के पोस्ट आने के बाद सरकार द्वारा इस प्रकार की सामग्री को हटाए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

 21 साल का मुख्य आरोपी पकड़ा गया

असम पुलिस ने दिल्ली पुलिस से जानकारी लेने के कुछ घंटों के बाद ही बुल्ली बाई विवाद के संदर्भ में बुधवार की शाम को जोरहाट नामक स्थान से चौथे आरोपी की जानकारी को हासिल कर लिया। पुलिस के बताए अनुसार 21 साल का नीरज बिश्नोई इस मामले में मुख्य मास्टरमाइंड है। और उसे ऐप में शामिल होने के आरोप में गुरुवार की सुबह को गिरफ्तार किया गया था, जिस एप में कई सौ महिलाओं को नीलामी के लिए ऑनलाइन रूप से तैयार किया गया था।

यह भी पढें ऑनलाइन पैसे कमाने के सही तरीके

ऑपरेशन खत्म ऐसे हुआ

असम पुलिस और दिल्ली पुलिस दोनों इस मामले में मिलकर काम कर रही हैं। दिल्ली पुलिस की टीम बुधवार सुबह असम पहुंची थी और बुधवार शाम होने तक उन्होंने आरोपी का पता भी लगा लिया थ। इस प्रकार लगभग 12 घंटे के अंदर ही यह ऑपरेशन समाप्त हो गया। एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई पुलिस भी इस विवादास्पद मामले की जांच कर रही थी लेकिन उन्होंने जार हाट में कोई सम्पर्क नहीं किया था।

भोपाल का कॉलेज स्टूडेंट है नीरज बिश्नोई 

बुल्ली बाई एप का मुख्य आरोपी नीरज बिश्नोई असम की राजधानी भोपाल के VIT collage में पढ़ता है। कॉलेज मैनजमेंट के अनुसार वह काफी होशियार स्टूडेंट है और second year द्वितीय वर्ष का छात्र है। महामारी के चलते कॉलेज बंद होने के कारण वह ज्यादतर पढ़ाई ऑनलाइन ही करता है।

बुल्ली बाई एप मामले की अन्य कार्रवाई

इससे पहले बुल्ली बाई एप मामले में दो अन्य छात्रों को गिरफ्तार किया गया था इन दोनों में से एक मुंबई का रहने वाला और एक बेंगलुरु का छात्र है। इसके अलावा, इससे पहले मंगलवार को इसी संबंध में उत्तराखंड की निवासी एक महिला को भी हिरासत में लिया गया था।

गिरफ्तार उत्तराखण्डी महिला का नेपाल से सम्बंध

Bulli Bai एप विवाद में मुंबई पुलिस ने उत्तराखंड निवासी 18 साल की युवती को उधम सिंह नगर जिले से गिरफ्तार किया था। इस मामले में अब एक ओर महत्वपूर्ण खुलासा हुआ है। सूत्रों के अनुसार आरोपी युवती श्वेता सिंह नेपाल में रहने वाले एक social media friend के कहे आदेशों पर काम कर रही थी। सूत्रों के अनुसार श्वेता सिंह से प्राप्त की गई कुछ जानकारी से यह पता चला है कि जियाउ नाम का एक नेपाली व्यक्ति एप पर उसे guide कर रहा था। मुंबई पुलिस के अधिकारियों द्ववाराआरोपी युवती श्वेता सिंह के लिए 5 जनवरी तक Transit remand की मांग की गयी थी।

‘बुल्ली बाई’ एप बनाने का प्लेटफार्म Github क्या है

‘बुल्ली बाई’ एप को github पर बनाया गया था। यह एक वेब होस्टिंग प्लेटफॉर्म होने के साथ साथ open source software ओर program को फ्री में उपलब्ध करवाता है। जिस से किसी तरह की ऐप्प बनाना काफी आसान हो जाता है।

गिटहब ने अब यूजर को ब्लॉक किया है

हालांकि अब github ने बुल्लीबाई एप से समन्धित यूजर को ब्लॉक कर दिया है। फिर भी लोगो मे github के प्रति काफी गुस्सा भरा हुआ है।

सुल्ली डील क्या है?

‘सुल्ली’ महिलाओं को अपमानित करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक अपमानजनक शब्द होता है। चार जुलाई, 2021 को twitter पर सुल्ली डील्स के नाम से कई स्क्रीनशॉट post किए गए थे। इस एप में एक टैग लाइन लिखी हुई थी, ‘सुल्ली डील ऑफ द डे’ और इस तरह की post को मुस्लिम महिलाओं की फोटो लगाकर शेयर किया जा रहा था। इसे भी गिट हब पर ही किसी साइबर अपराधी गिरोह ने बनाया हुआ था।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy link
Powered by Social Snap